Contents hide
1 # स्वतंत्रता के समय भारत देश ने किन-किन समस्याओं का सामना करना पड़ा !राजनीतिक समस्याएँ का वर्णन करें?
1.1 # भारत देश के समक्ष राजनीतिक समस्याएँ क्या थी?

 
Independence

 # स्वतंत्रता के समय भारत देश ने किन-किन समस्याओं का सामना करना पड़ा !राजनीतिक समस्याएँ का वर्णन करें?

 

ब्रिटिश सरकार ने भारत देश के ऊपर काफी लंबे समय तक शासन किया| भारत के प्रभावी नेता, व्यक्तियों , क्रांतिकारियों आदि | हम  ब्रिटिश सरकार के चंगुल से निकाल पाए| ब्रिटिश संसद में पारित स्वतंत्रता अधिनियम के अंतर्गत 14-15 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को भारत को स्वतंत्रता प्राप्त हुई| स्वतंत्रता के साथ साथ भारत का विभाजन भी हो गया था| जिसके कारण भारत देश के समक्ष काफी समस्याएँ खड़ी हो गई थी| इन सभी समस्याओं का सामना करना बहुत जरूरी था| 

भारत देश के सामने राजनीतिक, आर्थिक व सामाजिक समस्याएँ थी| आज हम राजनीतिक समस्याओं के बारे में बात करेंगे|

# भारत देश के समक्ष राजनीतिक समस्याएँ क्या थी?

 
1) विभाजन और शरणार्थी की समस्या :-          स्वतंत्रता के साथ -साथ भारत का विभाजन दो स्वतंत्र राष्ट्रों भारत व पाकिस्तान में हुआ | पाकिस्तान  में जो हिन्दू थे उनके साथ काफी बुरा व्यवहार किया गया| दिल्ली शहर में तो शरणार्थियों की भरमार हो गई थी| स्वतंत्र भारत के सामने शरणार्थियों के कल्याण की समस्या ,पुनवार्स , खान-पान की बड़ी समस्या थी| भारत ने काफी प्रयासों के बाद भी एक सही व्यवस्था का अभाव था| 
Independence

2) एकता व अखंडता की समस्या :-         भारत की एकता की सबसे बड़ी समस्या भारत का अंदर छोटी -बड़ी 565 रियासतों का होना| स्वतंत्रता के समय इन रियासतों को स्वतंत्र रहने ,भारत या पाकिस्तान में मिलने की स्वतंत्रता दि गई थी| अगर रियासत स्वतंत्र रहने का फैसला के लेते तो भारत की एकता व अखंडता ही समाप्त हो सकती थी| ऐसे में सरदार पटेल जी की मदद से सभी रियासतों  को भारत में मिला ही लिया जिससे भारत की एकता व अखंडता को कोई नुकसान नहीं पहुंचा |

3) कानून और व्यवस्था की समस्या :-           भारत विभाजन के कारण सांप्रदायिक दंगे भी हुए| अमृतसर और लाहौर में यह दंगे तीव्र थे | कानून और व्यवस्था पूरी तरह बिगर गई जिसके कारण यह दंगे चरमसीमा पर पहुँच गए थे| इसे सही करना एक बहुत बड़ी समस्या थी|

4) लोकतंत्र स्थापित करने की समस्या :-         स्वतंत्र भारत में वयस्क मताधिकार के आधार पर लोकतंत्र को अपनाया गया लेकिन समस्या यह थी कि भारतीय नेता और जनता को लोकतंत्र का कोई भी अनुभव नहीं था | ऐसे में भारत में लोकतंत्र को अपनाने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा|

# निष्कर्ष 

जैसा कि  हम देख सकते है भारत देश के सामने स्वतंत्रता के समय कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ा था |राजनीतिक समस्या का सामना करना भारत के नेता व भारत की जनता को काफी कुछ झेलना भी पड़ा था| आज भी भारत देश में काफी परेशानियाँ है बस फर्क इतना है आज की समस्या स्वतंत्रता की समस्या से अलग है |

@Roy Akash (pkj) 

By Roy Akash (pkj)

POL KA JAADU My Name is Roy Akash (pkj) admin of this www.polkajaadu.com Blog website.

One thought on “स्वतंत्रता के समय भारत की राजनीतिक समस्याएँ का वर्णन करें?-Describe the political problems of India at the time of independence in Hindi?”

Leave a Reply

Your email address will not be published.