राजनीतिक दल क्या होते है?-What are political parties in Hindi?

Political party

 # राजनीतिक दल क्या होते है?

राजनीतिक दल को हम लोगों के एक ऐसे संगठित समूह के रूप मे देखा जा सकता है | जो  चुनाव के समय चुनाव मे किसी दल से खड़ा होकर और चुनाव जीतकर सरकार मे राजनीतिक सत्ता प्राप्त करने की इच्छा से काम करते है | 

अगर हम भारत देश की बात करे तो भारत एक विविध समाज वाला देश है तो ऐसे मे यह राजनीतिक दल समाज के समूहित हित को ध्यान मे रखकर कुछ नीतियों व कार्यक्रम निर्धारित करते है |

 भारत जैसे देश मे तो समूहित हित एक विवादरूप बात है |  इसे लेकर लोगों की अलग – अलग सोच होती है | अब ऐसे मे विभिन्न राजनीतिक दल लोगों को यह समझाने की कोशिश करते है कि उनकी नीतीय बाकी राजनीतिक दल से क्यूँ अच्छी है |

# एक राजनीतिक दल बनाने के लिए क्या क्या जरूरी है ? 

राजनीतिक दल के प्रमुव्ख 3 हिस्से होते है –

1) नेता (leader) :-     किसी भी राजनीतिक दल को बनाने के लिए उस दल मे एक ऐसा  इंसान होना चाहिए जो की उस राजनीतिक दल का नेतृत्व कर सके और उस दल का प्रमुव्ख चेहरा होता है |

Political party

2)  सक्रिय सदस्य (active member) :-     जिसका मतलब है की उस दल मे कुछ ऐसे लोगों     का होना भी जरूरी है जो उस राजनीतिक दल का प्रचार करे और राजनीतिक दल से संबंधित काम करे | जो दल के लिए हर समय काम के लिए सक्रिय रहे | उनी को हम सक्रिय सदस्य के नाम से जानते है | 

Political party

 3) अनुयायी (Followers) :-    जिसका मतलब है की अनुयायी  के बिना कोई भी    राजनीतिक दल बन ही नहीं सकता है | जब तक किसी दल को चाहाने वाले लोग ही नहीं होंगे तो राजनीतिक दल काम किस के लिए करेगा | 

# राजनीतिक दल की जरूरत क्यों है ?

लोकतंत्र मे राजनीतिक दल का होना कोई बड़ी बात नहीं है क्योंकि लोकतंत्र का मतलब ही लोगों का शासन, लोगों के लिए, लोगों के द्वारा शासन किया जाता है |

आप भी तो किसी णा किसी दल/पार्टी के बारे मे जानते ही होंगे और कुछ न कुछ विचारधारा भी रखते होंगे | इसी प्रकार भारत के आप किसी भी हिस्से मे चले जाओ और लोगों से पूछो चाहे वो लोग पढे-लिखे हो या न पढे-लिखे हो गाँव मे रहेते हो या किसी शहर मे मतलब की कही भी चले जाओ | सभी लोग राजनीतिक दल के बारे मे जरूर जानते ही होंगे | किसी राजनीतिक दल/पार्टी के नेता को जानते होंगे अगर नेता को नहीं जानते हो किसी एक राजनीतिक दल/पार्टी के चिन्ह को जरूर ही जानते होंगे |

इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है की राजनीतिक दल/पार्टी को काफी ज्यादा लोगों द्वारा पसंद किया जाता है बल्कि अधितर लोग राजनीतिक दल के बारे मे गलत राय/विचारधारा रखते है क्योंकि लोगों को यह लगता है की जो कुछ भी देश मे या हमारे साथ बुरा हो रहा है | वो सब के लिए राजनीतिक दल की जिम्मेदार है |

जब राजनीतिक दल इतने ही बुरे है तो हमे राजनीतिक दल की क्या आवश्यकता है ! पहले इतने राजनीतिक दल नहीं हुआ करते थे | अगर हम 100 साल पहले की बात करे तो गिनती के कुछ ही राजनीतिक दल दिखाई देते थे | पर अब तो मानो हर घंटे भारत मे कोई ना कोई राजनीतिक दल दिखाई दे -देता है | भारत के अंदर राजनीतिक डाल काफी तेजी से बन जाते है | जैसे की कुछ दल बड़े दल से अलग होकर दल बना लेते है| कुछ जनआन्दोलन से दल बन जाते है |

 जैसा की मे आपको ऊपर बता चुका हूँ कि राजनीतिक दल क्या होते है |लोकतंत्र जैसे देशों का एक हिस्सा है राजनीतिक दल बस फर्क इतना है की कही  कम कही ज्यादा राजनीतिक दल देखने को मिलते है |

@Roy Akash (pkj) 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *